आज मैं उपस्थित हुआ हूं बिल्कुल ही जबरदस्त बिजनेस प्लान के साथ – ( कृषि कार्य में मुनाफा कैसे बढ़ाया जा सकता हैंAgriculture Business Ideas 2022 ) . भारत एक कृषि प्रधान देश होने के बावजूद भी अनाजों का अच्छा निर्यातक देश नहीं बन पाया. भारत की आबादी का एक बड़ा हिस्सा लगभग 60% आबादी गांव में निवास करती है. और हम सब जानते हैं की गांव घर में जीवन निर्वाहन का एक मुख्य क्रियाकलाप कृषि क्षेत्र से जुड़ा है. इस लेख के माध्यम से आज हम यह जानने वाले है कि प्राथमिक क्रियाएं अर्थात ”कृषि कार्य में मुनाफा कैसे बढ़ाया जा सकता है”? यहां प्राथमिक क्रिया से तात्पर्य आमतौर पर कृषि से ली जाती है किंतु मैं बताना चाहता हूं कि प्राथमिक क्रियाओं के अंतर्गत कृषि कार्य ही नहीं बल्कि इसके अतिरिक्त पशुपालन इत्यादि भी आते हैं.

आप भी अपने बड़े बुजुर्गों के मुंह से अक्सर यह ज्ञान की बातें सुने होंगे “जीवन में कुछ करना है तो मेहनत और सिर्फ मेहनत करो” क्युकि मेहनत से ही कुछ भी पाया जा सकता है. किंतु आज मैं इस लेख “कृषि कार्य में मुनाफा कैसे बढ़ाया जा सकता है” के माध्यम से इस कथन में कुछ जोड़ना चाहता हूं. सिर्फ मेहनत से सब कुछ नहीं पाया जा सकता है क्योंकि यदि मेहनत ही सब कुछ होता तो एक ठेले वाले अंकल को हेलीकॉप्टर उड़ाने वाले पायलट अंकल से कहीं अधिक मेहनताना मिलनी चाहिए । क्योंकि मेहनत तो बेशक ठेले वाले अंकल ही अधिक करते हैं. किंतु आप भी जानते हैं कि यह व्यवहारिक तौर पर सही नहीं है. तो फिर मेहनत के साथ क्या मिसिंग है जो इन दोनों अंकल के बीच की दूरी अथवा अंतर को परिभाषित कर सकती है?
इसीलिए आज हम इस लेख “कृषि कार्य में मुनाफा कैसे बढ़ाया जा सकता है” में बताने वाले हैं कि प्राथमिक क्रियाकलापों में अपनी मुनाफा को कैसे बढ़ा सकते हैं. वैसे तो हमारे देश कि लगभग 60% आबादी कृषि कार्यों से जुड़ी है फिर भी मुनाफा अपेक्षाकृत कम क्यों है?

क्या किसान लोग मेहनत नहीं करते हैं ?

नहीं नहीं ऐसा नहीं कहा जा सकता है कि किसान लोग मेहनत नहीं करते हैं . बस एक अच्छी दिशा निर्देश की जरूरत है. इस तरह आज हम प्राथमिक क्रियाओं के अंतर्गत हम क्या क्या कर सकते हैं, जिससे आमदनी अधिकतम हो सके?

agriculture business ideas 2022
agriculture business ideas

• गांव में कृषि कार्य: (Agriculture Business Ideas 2022)

कृषि कार्य में मुनाफा कैसे बढ़ाया जा सकता है” के इस लेख में हम सबसे पहले कृषि कार्य में ही स्मार्टनेस की बात करते हैं. इसमें कोई शक नहीं है कि कृषि कार्य में भी अच्छी खासी इनकम है. बस थोड़ा स्मार्टनेस दिखाने की जरूरत है. किसान लोग कृषि कार्य में जिस भूमि मैं बीज बोते हैं जरूरी नहीं कि वह मिट्टी अथवा वहां का वातावरण उस बीज के लिए उपयुक्त हो. इसलिए समय समय पर मिट्टी की जांच करवानी चाहिए. इससे पता चलेगा कि इस मिट्टी का नेचर कैसा है । अर्थात उस मिट्टी में किस तरह के बीज बोने से पैदावार अधिकतम होगी. और फिर उसी हिसाब से दलहन, तिलहन इत्यादि प्रकार के अन्य बीज को बोनी चाहिए.
यथासंभव प्राकृतिक खाद पर अधिक जोर देनी चाहिए. समय-समय पर सिंचाई की उत्तम व्यवस्था करने के साथ-साथ मौसम विभाग के पर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है. वरना ऐसा ना हो कि 2 साल के मेहनत पर बस 2 घंटे में ही पानी फिर जाए और फसल बर्बाद हो जाए. आप अपने फसल के लिए बीमा भी करवा सकते हैं जिससे आपको यह लाभ होगा कि यदि किसी कारणवश फसल बर्बाद हो जाए तो ज्यादा का नुकसान ना सहना पड़े इसके लिए बीमा कंपनी उचित राशि किसान को प्रदान करती है.

• गांव में पशुपालन (Pashupalan Business Kaise Kare)

कृषि कार्य के बाद यदि अधिकाधिक में यदि कोई किया जाता है तो वह है पशु पालन. इसीलिए हम इस पहलू पर भी चर्चा कर लेते हैं. आमतौर पर देखा जाता है कि किसान लोगों को पशुपालन से अधिकतम इनकम नहीं हो पाती है. कारण यह है कि पशु के सभी संभावित उत्पादों का उपयोग सही ढंग से नहीं हो पाता है . जैसे पशु द्वारा उत्सर्जित पदार्थ गोबर हो अथवा पेशाब दोनों का ही उपयोग प्राकृतिक खाद के रूप में किया जा सकता है. इससे भूमि की उर्वरता शक्ति भी बढ़ जाती है जिसके कारण पैदावार मैं वृद्धि होती है. इसके अलावा इन मल मूत्र से बायोगैस भी बनाया जा सकता है। आसपास में यदि डेरी मौजूद हो तो दूध को डायरेक्ट डेरी में डिलीवर करने से दूध से इनकम बढ़ जाती है। इस तरह से आप पशुपालन करके भी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

fish farming business ideas
fish farming business ideas

• गांव में मत्स्य पालन ( Fish Farming Business )

आज के समय में आप भी जानते हैं कि लगभग सभी लोग सर्वाहारी हो चुके हैं. मांस मछली मुर्गा अंडा इत्यादि मैं अभी भी मछली की लोकप्रियता का कोई तुलना नहीं है. इसलिए मछली का डिमांड अधिक होने के कारण इस व्यापार में अधिक से अधिक लाभ की गुंजाइश है. इसलिए आप एक सामान्य फैमिली से भी हैं तो भी आप मत्स्य पालन के बारे में अवश्य सोच सकते हैं.

• मत्स्य पालन की शुरुआत कैसे करें??

सबसे पहले आप सामान्य साइज के तालाब की व्यवस्था करें. और मार्केट में डिमांड के अनुसार मछली के विभिन्न प्रजातियों को तालाब में छोड़ दें. ध्यान देने की बात यह है कि आप जिस क्षेत्र में मत्स्य पालन करना चाहते हैं उस क्षेत्र के इर्द-गिर्द किस प्रजाति की मछलियों को अधिक पसंद किया जाता है यह जानना बहुत ही आवश्यक हो जाता है.
मछलियों के पोषण तथा रखरखाव में जो भी खर्च आता है यदि इसमें आप सक्षम नहीं है तो FSSAI से इस कारोबार के लिए लाइसेंस बना ले। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत बिजनेस शुरू करने के लिए बहुत ही कम दर पर ऋण भी उपलब्ध हो जाती है। इतना ही नहीं यदि आप स समय सभी शर्तों एवं निर्देशों के अधीन ऋण की राशि का भुगतान करते हैं तो सरकार की तरफ से सब्सिडी भी प्रदान की जाती है। यह सब्सिडी विभिन्न राज्यों के लिए अलग अलग हो सकता है। यदि हम औसतन इस व्यापार की बात करें तो आपको कम से कम 3 गुना का मुनाफा हो सकता है. इस तरह से आप “कृषि कार्य में मुनाफा कैसे बढ़ाया जा सकता है” के सभी पहलुओं को आसानी से समझ गए होंगे.

निष्कर्ष:

कोई भी काम छोटा नहीं होता और अपना काम अथवा कर्तव्य करने से बरा कोई धर्म नहीं होता. हमें विश्वास है कि आप इसी आत्मविश्वास के साथ भारत को आत्मनिर्भरता की तरफ ले जाने में एक कदम आप भी अवश्य उठाएंगे.

धन्यवाद :

“कृषि कार्य में मुनाफा कैसे बढ़ाया जा सकता है” लेख को अंत तक पढ़ने के लिए तहे दिल से शुक्रिया अदा करता हूं ।


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.